FDSA क्या है? मेम्बर, महत्व, फीस, नियम


FDSA और IDSA भारत में मौजूद दो सबसे बड़ी MLM समुदाय है। जैसे IDSA का निर्माण Amway, Oriflame और Avon ने किया है। इसी प्रकार FDSA को भी कुछ भारतीय डायरेक्ट सेलिंग कंपनी ने मिलकर बनाया है।

FDSA क्या है? FDSA का महत्व एक MLM कंपनी में कितना है? FDSA का संचालक कौन है? इसी प्रकार के कुछ सवालो का जवाब आपको इस लेख में मिलेंगे।

FDSA Kya Hai?

FDSA की Full Form Federation of Direct Selling Association है। FDSA की शुरुआत 2011 में हुई थी और इसके संस्थापक चार डायरेक्ट सेलिंग कंपनी है, जिनका नाम RCM, Tranzindia, Sarso Biznet और ARL है।

what is FDSA in hindi

FDSA का मुख्यालय हैदराबाद में है। Founder मेंबर के साथ Fellow और Provisional मेंबर को मिलाकर 25 के आस-पास डायरेक्ट सेलिंग कंपनी FDSA Member List में है।

FDSA का संचालक कौन है?

FDSA के प्रेजिडेंट A P रेड्डी है और वाईस-प्रेजिडेंट राजीव गुप्ता है। वही इसके एक मुख्य सेक्रेटरी और चार रीजनल सेक्रेटरी भी है।

FDSA एक निजी व स्वशासन संस्था है, जिसका भारत सरकार से कोई ताल्लुक नहीं है। लेकिन, FDSA भारत सरकार की डायरेक्ट सेलिंग गाइडलाइन को फॉलो और प्रचार करती है।

इतना ही नहीं, जब डायरेक्ट सेलिंग (MLM) को लेकर कोई कानून नहीं था, तब FDSA ने अपना योगदान दिया था और 2012 में राजस्थान सरकार के सामने गाइडलाइन लाने का प्रस्ताव रखा था।

FDSA Member List

अभी हम FDSA की सदस्य सूची देखेंगे, जिसमें 3 अलग तरह की सदस्यता (Membership) है।

Founder Members

FDSA की यह सदस्यता निम्न 4 कंपनी के अलावा किसी और कंपनी को नहीं मिल सकती है, क्योंकि इस सूची में FDSA की संस्थापक कंपनी ही आती है।

Fellow Members

इस सदस्यता सूची में कोई भी डायरेक्ट सेलिंग कंपनी आ सकती है, लेकिन यह सदस्यता लेने के लिए कुछ नियम है, जिनके बारे में हम आगे बताएँगे।

FDSA से जुड़ने के नियम व स्टेप

FDSA का मेंबर अगर किसी कंपनी को बनना है, तो इसके लिए कुछ नियम और आवयश्कता है। जिनकी पूर्ति करना जरूरी है।

  • सबसे पहले डायरेक्ट सेलिंग कंपनी को डायरेक्ट सेलिंग गाइडलाइन का पालन करना होगा, उसे बाद ही कंपनी FDSA मेंबर के लिए अप्लाई कर सकती है।
  • सदस्यता के लिए कंपनी को एक फॉर्म भरकर हैदराबाद में FDSA के मुख्यालय में भेजना पड़ता है। जिसमे 25,000 रुपए सिक्योरिटी फीस भी शामिल है, अधिक जानकारी आपको FDSA की वेबसाइट www.fdsaindia.org पर मिल जाएगी।
  • बाद में FDSA के संचालक कंपनी की जांच करते है और देखते है, कि क्या कंपनी सदस्यता के लिए लायक है या नहीं।
  • अंत मे FDSA के प्रेजिडेंट सहमति दिखाकर कंपनी को FDSA से जोड़ने का निर्णय लेते है।
  • अगर कोई कंपनी एक साल से पुरानी है, तो Fellow मेंबर में जुड़ती है और सालाना 2 लाख रुपए फीस देनी होती है।
  • अगर कंपनी 1 साल से कम की है, तो उसे Provisional मेंबर के रूप में 1 लाख रुपए फीस चुकानी होती है।
  • सदस्यता जारी रखने के लिए हर कंपनी को सालाना फीस चुकानी होती है।

FDSA का महत्व कितना है?

FDSA हो या IDSA, इनका मेंबर होना किसी भी MLM कंपनी के लिए जरूरी नहीं है। लेकिन यह लोगो के मन में यह गलतफेमी है, कि इनका मेम्बर होना जरूरी है।

अगर कोई MLM कंपनी इन समुदाय की मेंबर नही है, तो इसका मतलब यह नही है, कि उस MLM कंपनी में कोई खराबी या कमी है। कई बड़ी डायरेक्ट सेलिंग कंपनी भी इनकी मेंबर नहीं है।

जैसा की हमने IDSA के लिए कहा था, उसी प्रकार FDSA भी अब मार्केटिंग का हिस्सा बना दी गयी है। कई डायरेक्ट सेलर कहते है, कि “हमारी कंपनी FDSA मेंबर है, वो कंपनी नहीं है“।

FDSA और IDSA का नाम लेकर दूसरी कंपनी को नीचा दिखाना और स्वयं की कंपनी को बड़ा कहना, तर्कहीन बात है।

याद रखें, कोई भी MLM कंपनी चुनते समय जाँच करें, कि कंपनी MCA के अंतर्गत रजिस्टर और लीगल डायरेक्ट सेलिंग कंपनी लिस्ट में मौजूद है या नहीं। वही इन निजी समुदाय का मेम्बर होना जरूरी नहीं है।

हमें उम्मीद है, कि ये लेख आपको पसंद आया होगा और FDSA के बारे में जानकारी मिल गयी होगी।

अगर कोई भी सवाल या सुझाव है, तो कमेंट में जरूर बताए।

3.1/5 - (7 votes)
शेयर करे : Share It

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *