IDSA और FDSA में अन्तर और बेहतर कौन है?

IDSA और FDSA भारत मे चल रहे, MLM कंपनियों के दो सबसे बड़े समुदाय है। IDSA में कुल 22 MLM और डायरेक्ट सेलिंग कंपनिया जो भारत में है,वे मेंबर है।वही FDSA में कुल 26 मेंबर कंपनी है।  

IDSA और FDSA में अंतर क्या है? (Difference Between IDSA and FDSA?) और दोनो में से कौनसा समुदाय बेहतर है? इसी विषय पर आज हम बात करेंगे। तो, चलिये शुरू करते है। 

IDSA और FDSA क्या है?

Difference between IDSA and FDSA

IDSA की Fullform “India Direct Selling Association” है और FDSA की Fullform “Federation of Direct Selling Association” है। IDSA और FDSA दोनो प्राइवेट समुदाय है, जो भारत सरकार से ताल्लुक नही रखती है।

IDSA, WFDSA (World Federation of Direct Selling Association) की मेंबर है। वही FDSA WFDSA की मेंबर नही है।

\

IDSA को अंकित शुक्ला WFDSA में रिप्रेजेंट करते है और FDSA के प्रेजिडेंट का नाम A P रेड्डी है।

Fact About IDSA

  • Amway, Avon और Oriflame IDSA की संस्थापक कंपनी है। जिसमे से एक भी इंडियन कंपनी नही है और समुदाय का नाम इन्होंने इंडियन से शुरू किया है।
  • IDSA की 22 मेंबर में से तकरीबन सिर्फ 6 कंपनिया ही भारतीय है, बाकी सारी विदेशी कंपनिया है।
  • IDSA की शुरवात 1996 में मुम्बई में हुई थी और मोहन कृष्णन को पहला प्रेसिडेंट बनाया गया। 
  • IDSA अपनी मेंबर कंपनी से सालाना 5 लाख रुपए फीस लेती है। (इसकी पृष्टि नही की गई है)

Fact About FDSA

  • RCM, Saros Limited, Tranz India और ARL limited ने FDSA की शुरवात की है, जो दक्षिण भारत मे ज्यादा एक्टिव है।
  • FDSA का मुख्यालय हैदराबाद में स्थित है, वही इसकी देश के अन्यो राज्यो में ब्रांच है।
  • FDSA अपने Fellow मेंबर से 2 लाख रुपए और Provisional मेंबर से 1 लाख रुपए सालाना फीस लेती है।
  • FDSA में कुल 26 कंपनिया है, जिसमे से 6 प्रोविशनल है, यानी की उनकी शुरुवात हुए, अभी एक साल नही हुआ है।

IDSA और FDSA के होने के फायदे

  • सबसे बड़ा फायदा FDSA और IDSA की मौजूदगी से हुआ है,तो यह कि ये अपनी मेंबर कंपनी से भारत सरकार की डायरेक्ट सेलिंग गाइड-लाइन फॉलो करवाती है।
  • दूसरी बात यह अपनी मेंबर कंपनी के बीच आदान प्रदान करवाती है, जबकि भारत मे अभी डायरेक्ट सेलिंग के लिए इन दोनों से बड़ी कोई संस्था नही है। 
  • वही इनके कारण पोंजी और पिरामिड स्किम की परख लोगो में आयी है।

IDSA, FDSA और Membership

IDSA और FDSA की मौजूदगी ठीक है, लेकिन बहुत-सी बातें है, जो लोगो को नही पता है। सबसे पहली हैरान करने वाली बात यह है,कि Indian Direct Selling Association में 80 प्रतिशत कंपनिया विदेशी है। वही दोनो IDSA और FDSA मेंबर कंपनी से भारी फीस चार्ज करती है। जिससे बहुत-सी कंपनिया हिस्सेदारी नही लेती है।

IDSA, FDSA और निष्पक्षता

IDSA और FDSA दोनो MLM कंपनियो द्वारा ही बनाई गयी है और दूसरी MLM कंपनी किसी ना किसी तरह से इनकी प्रतियोगी ही है। अब कौन अपने प्रतियोगी को बढ़ता देखना चाहेगा। वही इनके प्रेजिडेंट और सीनियर मेंबर किसी ना किसी MLM कंपनी से ताल्लुक रखते है। ऐसे में वे अपनी कंपनी को आगे बताते है। जिससे यह निष्पक्ष समुदाय नही लगता है।

IDSA, FDSA और मार्केटिंग

अगर आप भी बहुत सी MLM कंपनिया के सेमिनार में गए होंगे, तो सुना होगा की कई लोग ताल-ठोककर कहते है, कि हमारी कंपनी FDSA या IDSA की मेंबर है। और अगर कोई MLM कंपनी FDSA या IDSA की मेंबर नही होती है, तो उसे नीचा दिखाया जाता है।

यानी की IDSA और FDSA के नाम को मार्केटिंग के लिए इस्तमाल किया जाता है। वही IDSA और FDSA का मेंबर होना कोई इतनी बड़ी बात नही है, जितना लोग कहते है।

क्या भारतीय कंपनियो को FDSA, IDSA से जुड़ना चाहिए?

अगर मेरे अनुसार देखे, तो भारतीय MLM और स्टार्ट-अप डायरेक्ट सेलिंग कंपनी को FDSA और IDSA से दूर ही रहना चाहिए। क्योंकि इनका मेंबर होना कोई जरूरी नही है। वही भारत मे एक निष्पक्ष MLM समुदाय की जरूरत है। जहाँ सभी कंपनियो को एक-समान तरीके से देखा जाए और जिससे डायरेक्ट सेलिंग को बढ़ावा मिले।

1 thought on “IDSA और FDSA में अन्तर और बेहतर कौन है?”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *