क्या MLM और नेटवर्क मार्केटिंग भारत में लीगल है?MLM कानून

MLM और networking की इंडस्ट्री भारत के कोणे-कोणे में बढ़ती जा रही है। इस इंडस्ट्री से ऐसे हज़ारो लोगो को रोज़गार दिलवाया है,जो किसी डिग्री से नहीं बल्कि अपने स्किल्स से हर महीने लाखो में कमाई करते है। MLM और नेटवर्किंग की इस इंडस्ट्री पर कई बार सवाल खड़े हुए है,क्योंकि इस इंडस्ट्री को Scam और फ़्रॉड की नज़र से देखा जाता है। MLM को फ़्रॉड और Scam कहने के कारण को हम पहले ही बता चुके है और MLM का परिचय भी करवा चुके है,जिसे यहाँ से आप पढ़  सकते है।

 

इस पोस्ट में आपको हम बताएँगे,कि या MLM और नेटवर्किंग भारत के लीगल है या नहीं और इसकी भारत सरकार से मान्यता को लेके मामलों पर नजर डालेंगे। अगर MLM और किसी कंपनी नेटवर्क से आप जुड़ रहे है,तो आपको इस पोस्ट को जरूर पढ़ना चाहिए।


क्या  MLM भारत मे लीगल है या नहीं?

mlm and networking are legal or not

इस सवाल का जवाब हाँ भी ओर ना भी है। क्योंकि MLM को भारत मे पूरी तरह से लीगल टेंडर में नही रखा गया है,ओर नाही इसे इल्लीगल कहा गया है। MLM का पूरी तरह से लीगल नहीं होना,इसके पीछे एक बड़ा कारण है।  MLM में नेटवर्क और प्रोडक्ट की बिक्री पर Consumer कोर्ट में बहुत से मामले आये है,जिससे MLM और networking के मान्यता को लेके ओर सवाल खड़े हो रहे है।


MLM और networking की मान्यता को लेके मामला?

 

\

जैसे की MLM में कोई व्यक्ति किसी कंपनी और प्रोडक्ट को प्रमोट करता है। वह व्यक्ति भी किसी रिटेलर की तरह है,जो किसी दुकान को चला रहा होता है और अपने आस-पास से हॉलसेल में सामान लेके अपना प्रॉफिट निकालकर उसे आगे बेच रहा होता है। ऐसा ही MLM में होता है।

परन्तु,रिटेलर एक जगह तक सीमित है और उनपर कुछ भी गलत करने पर कड़ी पाबंदी होती है,जैसे की उसके खिलाफ कुछ भी गलत होने या गलत समान की बिक्री कर ठगी करने का मामला दर्ज हो सकता है और उसे सजा हो सकती है। मलतब की दुकानदार का लाइसेंस भी रद्द हो सकता है।

परन्तु MLM करने वाला व्यक्ति पूरी तरह से आजाद होता है।वह आज एक शहर में है,तो कल वह कई ओर होगा। यानी की उसका पता नहीं होता,ना ही उनके पास किसी सैलिंग सर्विस या प्रोडक्ट बेचने का लाइसेंस होता है,जिसे रद्द कर उसे रोका जाए।

 

आसान शब्दो मे कहे,तो MLM करने वालो के ख़िलाफ़ कुछ गलत प्रोडक्ट और सर्विस की बिक्री पर प्रशासन इतनी कारवाही नहीं कर पाती।इसलिए सरकार ने MLM को इतनी मान्यता नहीं दी है,पर उसे इल्लीगल भी नही कहां है।कुछ साल पहले भारत सरकार के द्वारा MLM पर लागू नियम अनुसार MLM को भारत मे मान्यता भी मिली है,परन्तु कुछ कायदे है,जिन्हें MLM कंपनीयो को फॉलो करना पड़ता है।इसलिए किसी भी कंपनी को जॉइन करने से पहले उस कंपनी की मान्यता को भी देखें।


 

किसी भी MLM कंपनी की मान्यता को लेके कानून-

indian government and mlm

MLM को अब मान्यता मिल ही चुकी है,परन्तु हर MLM कंपनी उन कानूनों को फॉलो नहीं करती है। अगर आप MLM से जुड़ रहे है,तो आप कंपनी की भारत सरकार से जुड़े कायदे मान रही है या नहीं यह जरूर पुछे।

इसके अलावा कंपनी के पास GST नंबर,किसी ऑथोराइज़ बैंक का ही अकॉउंट, पैन कार्ड, Owner की जानकरी जैसी बहुत सी चीज़ों को आप खुद चेक करें। जिससे आपके साथ ठगी के चांस कम हो जायँगे।


हमे उम्मीद है,आपको MLM की मान्यता और उसके लीगल कंपनी को पहचाने कैसे,इस बारे में जानकारी मिल गयी होगी। अगर आपको कोई भी सवाल या सुझाव हो,तो कमेंट में हमसे जरूर पूछे।

Rate this post

2 thoughts on “क्या MLM और नेटवर्क मार्केटिंग भारत में लीगल है?MLM कानून”

कमेंट करे