पिरामिड स्कीम क्या है? MLM और Networking Scam

MLM और डायरेक्ट सेलिंग  के नाम पर फ़्रॉड और SCAM के मामले बढ़ते जा रहे है। आज के समय मे अधिकतर MLM और डायरेक्ट सेलिंग कंपनीया भी पोंजी स्कीम और पिरामिड स्कीम चला रही होती है।वही इन कंपनी के शुरुवातकर्ता इन स्कीम से भारी मुनाफा कमाते है। पिरामिड और पोंजी स्कीम में एक बार निवेश करने के बाद बाहर आना और अपनी निवेश बचाना काफी मुश्किल है।वही पिरामिड स्कीम में तो,अपने प्रॉफिट के लिए दूसरों को जबरन अपने नीचे लाने का प्रयास भी लोग करते है।

इस पोस्ट में हम आपको बतायंगे, की पिरामिड स्कीम क्या है? (what is pyramid scheme in hindi?) और क्यों पिरामिड स्कीम पोंजी स्कीम और MLM से अलग है? (difference between ponzi scheme, pyramid scheme and MLM in hindi?)

पिरामिड स्कीम क्या है? (Pyramid Scheme in Hindi):-

what is pyramid scheme in hindi?

पिरामिड स्कीम की शुरवात पहले लेवल से होती है।पिरामिड स्कीम में भी MLM की तरह अलग-अलग तरह के नेटवर्क और लेवल होते है। यहाँ हम साधारण बाइनरी नेटवर्क से समझ रहे है।
पिरामिड स्कीम में सबसे ऊपर लेवल शुरुवातकर्ताओ का होता है।अब उसके नीचे दो नए लोग जुड़ते है। जो लोग कंपनी से जुड़ते हैं,उन्हें जुड़ने के लिए फिक्स पैसा कंपनी को देना पड़ता है। अब उन दो लोगो को ओर भी लोगो को कंपनी में लाने के लिए कहा जाता है,जिसके बदले उन्हें फिक्स प्रॉफिट का वादा किया जाता है।

अब जो पहले दो लोग थे,उनके नीचे दो-दो नए लोग आते है। जिनसे भी फिक्स जुड़ने का पैसा लिया जाता है। अब उन 4 लोगो के पैसों में से कुछ पैसा उन पहले दो लोगो को दे देते है। जिससे उन्हें और उनके नीचे वालो को यकीन हो जाता है,कि कंपनी निवेश करने पर पैसे वापस देती है। जिससे ओर भी लोग उसके नीचे जुड़ने लग जाते है।

उदाहरण देखे तो,ABC कंपनी से जुड़ने के लिए 1000 रुपए निवेश करने होते है। अब दूसरे लेवल पर दो लोग जुड़ते है,जिनसे 1000-1000 करके 2000 रुपए दूसरे लेवल के आने से कंपनी को मिलते है। अब उन दो लोगो के नीचे दो-दो लोग जुड़ते है,जिससे तीसरा लेवल बनाता है और उसमें 4 लोग होते है। उनसे भी 1000-1000 रुपए लिए जाते है। यानी की तीसरे लेवल से कंपनी के पास 4000 रुपए आते है। अब दूसरे लेवल के 2000 रुपए और तीसरे लेवल के 4000 रुपए में से कंपनी 700-700 रुपए उन दो लोगो को दे देते है,जो दूसरे लेवल पर होते है। जिससे उन्हें और उनके निचले मेंबर को कंपनी पर यकीन होने लगता है। वही कंपनी ओर प्रॉफिट पाने के लिए ओर लोगो को लाने का लालच देती है। परंतु तीसरे लेवल तक कंपनी के पास पूरे 6000 रुपए (2000+4000) आते है।जिसमे 700-700 रुपए दूसरे लेवल के मेंबर को देते है,जिससे 6000-1400= 4600 रुपए  का मुनाफा कंपनी को होता है।

pyramid scheme in hindi

 

ऐसे ही कंपनी का लेवल और जुड़ने वाले लोग बढ़ते जाते है।वही बाइनरी प्लान में हर निचले लेवल पर ऊपर के लेवल के दोगुना लोग जुडते जाते है। जिससे इनका नेटवर्क बहुत तेज बढ़ता है।

पिरामिड स्कीम और पोंजी स्कीम में अंतर (difference between ponzi scheme and pyramid scheme in hindi):-

पोंजी स्कीम में कंपनी पैसे आगे कई और निवेश करने का दावा करती है।वही पिरामिड स्कीम में कंपनी खुद को MLM कंपनी बताती है।जिसमे कंपनी से जुड़ने पर कंपनी के प्रोडक्ट खरीदने को बोला जाता है।
पोंजी स्कीम की संरचना पिरामिड स्कीम जैसी नही होती है।पिरामिड स्कीम में इतने लोगो को लाने पर इतना पैसा मिलेगा,यह पहले से कंपनी वाले तय करकर रखते है।पंरन्तु,पोंजी स्कीम में ऐसा नही है।पोंजी स्कीम में लोगो के शक से बचने और उन्हें जोड़े रखने के लिए पैसा दिया जाता है।

पिरामिड स्कीम और MLM में क्या फर्क है? (Difference between Pyramid Scheme and MLM in hindi?)

MLM पूरी तरह से प्रोडक्ट के आधार पर चलती है।जहाँ जुड़ने वाले लोगो को प्रोडक्ट को बेचना व कैसे नेटवर्क बनाकर प्रमोशन करे,यह बताया जाता है।पंरन्तु,पिरामिड स्कीम में प्रोडक्ट सिर्फ दिखाने के लिए होते है।जिसमे प्रोडक्ट के प्रमोशन पर कोई जोर नही दिया जाता है।

पिरामिड स्कीम में जुड़ने के लिए भारी रकम ली जाती है,वही MLM में जुड़ने के पैसे नही होते है।बल्कि,कंपनी के प्रोडक्ट खरीदने के पैसे देने होते है। एक MLM कंपनी और पिरामिड स्कीम में फर्क प्रोडक्ट को देखकर पता लगा सकते है।
पिरामिड स्कीम में अक्सर प्रोडक्ट घटिया क्वालिटी,ज्यादा MRP और खरीदने लायक भी नही होते है।

पिरामिड स्कीम क्यों फ़्रॉड है? (why pyramid scheme is fraud in hindi?)

  • बहुत से लोगो को पिरामिड स्कीम एक बिज़नेस मॉडल लगता है।पंरतु,असल में यह फ़्रॉड और scam ही होता है।कुछ पिरामिड स्कीम लंबे समय तक चलती है,वही कुछ पिरामिड स्कीम थोड़े समय मे बन्द हो जाती है।
  • पिरामिड स्कीम में ज्यादातर बार निवेश को समय के साथ बढ़ाया जाता है,ताकि कंपनी को ज्यादा प्रॉफिट मिले।पंरन्तु,इसके ही विपरीत ऊपरी लेवल मेंबर का कमीशन कम कर दिया जाता है।जिससे ज्यादा पैसे लोगो को वापस देने ना पड़े।
  • कही पिरामिड स्कीम कंपनिया ऐसा इसलिये भी करती है,ताकि नेटवर्क में बढ़ोतरी धीरे हो जाये और लंबे समय तक लोगो को धीरे-धीरे ओर जोड़ा जाए।
  • अंत मे पिरामिड स्कीम अचानक से बंद या इनका पर्दाफ़ाश हो जाता है।जिससे इसके निवेशकों के पैसे खतरे में आ जाते है। सबसे ज्यादा मुश्किल उनहे होती है,जो कंपनी के निचले लेवल पर होते है।क्योंकि वे हाल ही में जुड़े होते है,तो उन्हें कंपनी से तो कुछ नही मिलता,बल्कि सारा निवेश किया पैसा चला जाता है।

पिरामिड स्कीम से कैसे बचें? (how to prevent from pyramid scheme and MLM scam in hindi?)

पिरामिड स्कीम से बचने का एक ही तरीका है,कि इस तरह की स्कीम और कंपनी से दूर ही रहे। अगर कोई MLM कंपनी के बारे में भी बताता है,तो उसके प्रोडक्ट को देखे,कि क्या वास्तव में प्रोडक्ट आगे बेचने लायक है या नहीं।
वही अगर कंपनी जुड़ने के ज्यादा रकम मांगती है,तो भी ना जुड़े। वही बहुत सी पिरामिड कंपनी प्रोडक्ट के नाम पर लोगो को बेवकूफ भी बनाती है,जिसका उदाहरण 1200 करोड़ रुपए का scam करने वाली कंपनी future maker भी है। जिसके प्रोडक्ट की MRP सौ-गुना ज्यादा बताई जाती थी।

इसके अतिरिक्त किसी भी  MLM कंपनी में निवेश करने से पहले सोचे,क्योंकि MLM कंपनी के मेंबर का काम ही नए लोगो को लाने का होता है,ऐसे में आप बिना सोचे समझे और पूरी जानकारी के बिना अपना पैसा निवेश ना करे। वही MLM कंपनी से जुड़ने से पहले भी MLM को समझे अन्यथा ज्यादातर लोग MLM से जुड़ने के बाद पछताते है।

 

2 thoughts on “पिरामिड स्कीम क्या है? MLM और Networking Scam”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *