Direct Selling Company Certificate / लाइसेंस

Home Forums Forum Direct Selling Company Certificate / लाइसेंस

This topic contains 0 replies, has 1 voice, and was last updated by Hemant kumawat Hemant kumawat 1 month, 2 weeks ago.

Viewing 1 post (of 1 total)
  • Author
    Posts
  • #3888
    Hemant kumawat
    Hemant kumawat
    Keymaster

    डायरेक्ट सेलिंग कंपनी का एक स्पेशल सर्टिफिकेट व लाइसेंस होता है, यह अफवाह बहुत से लोगो के मन में है।

    कई लोग यह भी पूछते है,कि डायरेक्ट सेलिंग कंपनी (MLM) का सर्टीफिकेट कैसे पाये?

    तो सबसे पहले आप जान लीजिये,कि डायरेक्ट सेलिंग/ MLM कंपनी को भारत में किसी भी स्पेशल सर्टिफिकेट की जरूरत नही होती है।

    आमतौर पर, हर कंपनी के पास जो सर्टिफिकेट होते है, जैसे ISO, FSSAI उन्ही सर्टिफिकेट की जरूरत डायरेक्ट सेलिंग/ MLM कंपनी को होती है।

    लेकिन डायरेक्ट सेलिंग कंपनी को रजिस्ट्रेशन के समय खुदके बिज़नेस प्लान को MCA (Ministry of Corporate Affairs) को बताना होता है। जब कंपनी पंजीकरण के समय MOA (Memorandum of Association) जमा करती है, उसमे लिखना पड़ता है, कि कंपनी का प्लान डायरेक्ट सेल्स, सिंगल-लेवल या मल्टी-लेवल पर है।

    इसके साथ-साथ कंपनी को अपने प्रोडक्ट की जानकारी देनी होती है व डायरेक्ट सेलिंग गाइडलाइन का पालन करना होता है।

    उसके बाद ही कंपनी का नाम लीगल डायरेक्ट सेलिंग कंपनी लिस्ट में आता है।

    अगर कोई पुरानी कंपनी डायरेक्ट सेलिंग इंडस्ट्री में आना चाहती है, तो उसे भी MCA को सूचित करना होगा।

    IDSA, FDSA और अन्य MLM यूनियन का सर्टीफिकेट किसी भी डायरेक्ट सेलिंग/ MLM कंपनी के लिए जरूरी नही है। क्योंकि ये निजी समूह है और कुछ MLM कंपनीयो ने मिलकर ही बनाया होता है। जिसका इस्तेमाल सिर्फ मार्केटिंग के लिए होता है। IDSA, FDSA मेंबर कंपनियो को सालाना फ़ीस भी भरनी पड़ती है, जो 3 से 5 लाख रुपए तक होती है।

    इसलिए MLM कंपनियो का IDSA, FDSA से ना जुड़े, इसमें ही भलाई है।

Viewing 1 post (of 1 total)

You must be logged in to reply to this topic.