fbpx

Network Marketing क्या है? फायदे व नुकसान | MLM in Hindi

MLM in Hindi: आज के इस लेख में हम एक बेहद जरूरी विषय पर बात करेंगे और आपको इसके बारे में विस्तार से जानकारी देंगे। हम बात कर रहे है, MLM की। जिसे Network Marketing, डायरेक्ट सेलिंग, चैन मार्केटिंग या पिरामिड सेलिंग भी कहा जाता है।

नेटवर्क मार्केटिंग को कई लोग फ्रॉड समझते है, वही कई लोग इसकी पिरामिड स्कीम और पोंजी स्कीम से तुलना करते है। लेकिन वास्तविक में MLM इन फ्रॉड से कुछ अलग है। लेकिन यह कहना भी बिल्कुल गलत है, कि MLM में फ्रॉड नहीं होते है। MLM में आज के समय में भी फ्रॉड होते है और बड़ी कंपनिया व लीडर, MLM के नाम पर फ्रॉड करते है।

शायद आपने पहली बार MLM (नेटवर्क मार्केटिंग) के बारे में सुना हो या सिर्फ MLM के बारे में जानने में रुचि रखते हो। तो आप सिर्फ मन लगागे के इस लेख को पढे और यह लेख आपके लिए बेहद मददगार और जानकारी पूर्ण शाबीत होगा। तो चलिये शुरू करें,

नेटवर्क मार्केटिंग क्या है? – What is MLM in Hindi

MLM की full form Multi-Level Marketing है। MLM एक तरह से मार्केटिंग का तरीका ही है, लेकिन इसमें मार्केटिंग सीधी तरह से नहीं होती है।

what is MLM in hindi

आमतौर पर समान्य कंपनी में मार्केटिंग टीम होती है, जो कंपनी के प्रॉडक्ट या सर्विस का प्रमोशन/प्रचार करती है। लेकिन इसमें एक और नयी चीज़ जुड़ती है, वो है मल्टी-लेवल।

MLM में कंपनी से जुडने के बाद आपको खुद तो कंपनी के प्रॉडक्ट/सर्विस का प्रचार करना ही है, साथ-साथ में दूसरे लोगों से भी आपको यही काम कराना पड़ता है। जिससे दूसरों के काम का कुछ प्रतिशत मुनाफा आपको भी मिलता है। इसलिए जो लोग MLM में काम करते है, वे दूसरें लोगों को MLM करने के लिए बुलाते है, इससे उनकी कमाई भी बढ़ती है।

MLM में सभी लोग पहले से निश्चित संरचना में जुडते है, जिसे कंपनी का प्लान भी कहा जाता है। जैसे

  • Binary Plan
  • Matrix Plan
  • Generation Plan
  • Unilevel Plan

Upline व Downline

आगे बढ़ने से पहले इन दो शब्द को समझना बेहद जरूरी है, जो है Upline व Downline। हम बाइनरी प्लान से इसे समझते है।

Upline यानि की वे लोग जो आपको MLM कंपनी से जोड़ते है। जैसे मान लो, सुरेश ने आपको MLM से जोड़ा है, तो वो आपका डायरेक्ट Upline है। जिसने सुरेश को जोड़ा है और उसके ऊपर के लोगों को भी Upline ही कहेंगे, लेकिन वह डायरेक्ट Upline नहीं है।

सुरेश ने आपको जोड़ा है और अब आप रमेश को अपने नीचे जोड़ते है, तो रमेश आपकी डायरेक्ट Downline है। अब रमेश भी कुछ लोगों को अपने नीचे जोड़ता है, तो वो आपकी और सुरेश की डाउनलाइन है और रमेश की डायरेक्ट डाउनलाइन होगी।

जिन लोगों की डाउनलाइन में सैकड़ों, हजारों लोग होते है, उन्हें MLM Leader कहते है।

MLM में क्या करना होता है?

जो कंपनी MLM संकल्पना का उपयोग अपने प्रॉडक्ट/सर्विस के प्रचार में करती है, उसे हम MLM कंपनी कहते है। जो लोग MLM कंपनी से जुडते है और नेटवर्क मार्केटिंग करते है, उन्हें डायरेक्ट सेलर, डिस्ट्रीब्यूटर या नेटवर्कर भी कहते है।

डायरेक्ट सेलर बनने के बाद प्रमुख दो काम करने होते है।

1. प्रॉडक्ट बिक्री

हर MLM कंपनी के पास कुछ प्रॉडक्ट/सर्विस होती है, वह हर डायरेक्ट सेलर को MRP से कम कीमत (डिस्ट्रीब्यूटर प्राइस) पर मिलती है। डायरेक्ट सेलर उन प्रॉडक्ट/सर्विस को आगे बेचकर रिटेल प्रॉफ़िट कमा सकता है। जैसा की हमने ऊपर बताया था, यहाँ आपके द्वारा की प्रॉडक्ट/सर्विस की बिक्री पर कुछ प्रतिशत मुनाफा आपकी Upline के पास भी जाएगा।

2. नेटवर्क बनाना (Recruitment)

नेटवर्क मार्केटिंग में पेसिव इनकम के लिए आपको दूसरे लोगों को भी इस कंपनी से जोड़ना होता है। नेटवर्क मार्केटिंग में कभी भी पैसा लोगों को जोड़ने पर नहीं मिलता है, बल्कि Downline में हो रही प्रॉडक्ट/सर्विस बिक्री पर कुछ प्रतिशत मुनाफा मिलता है।

यानि अगर आप 10 लोगों को अपने नीचे जोड़ते है और वे कंपनी से प्रॉडक्ट नहीं लेते है, तो आपकी कोई भी कमाई नहीं होगी। इसलिए इस बात को याद रखें, कि MLM में कमाई लोगों को जोड़ने पर नहीं, बल्कि प्रॉडक्ट की बिक्री पर ही होती है। प्रॉडक्ट बिक्री आपकी खुदकी या डाउनलाइन द्वारा होनी चाहिए।

MLM Vs Ponzi Scheme Vs Pyramid Scheme

अब हम आते है, MLM, पोंजी और पिरामिड स्कीम पर।

पोंजी स्कीम आमतौर पर खुदकों एक निवेश (Investment) कंपनी बताती है और ज्यादा रिटर्न देने का वादा करती है। पोंजी स्कीम में जुडने वाले लोगों की संरचना MLM की तरह निश्चित नहीं होती है। पोंजी स्कीम भारत समेत अधिकतर देशों में बेन है। PACL Fraud एक पोंजी स्कीम थी, जिसमें 5 करोड़ लोगों का 49,000 करोड़ रुपये फंसे है।

पिरामिड स्कीम और MLM एक समान ही लगते है, लेकिन इनमें फर्क आसानी से कर सकते है। MLM पूरी तरह से लीगल है और इसमें प्रॉडक्ट/सर्विस बिक्री पर पैसा मिलता है, लेकिन पिरामिड स्कीम में लोगों का पैसा नेटवर्क में घुमाया जाता है। इसलिए इस पर पाबंधी है।

लेकिन फिर भी बहुत सी पिरामिड स्कीम आज भी चल रही है। पिरामिड स्कीम हमेशा खुदकों MLM बताती है। फिर डमी (Dummy) प्रॉडक्ट का उपयोग करके लोगों से निवेश लेती है। ये डमी प्रॉडक्ट फालतू और बहुत ज्यादा कीमत के होते है, जिससे कंपनी प्रॉडक्ट के नाम पर लोगों से निवेश लेकर पैसा घुमाती है।

शुरुवात में पिरामिड स्कीम बेशक पैसा देती है, लेकिन एक समय बाद फरार हो जाती है, जब लाखों लोग इसपर पैसा लगा चुके होते है। Future Maker एक इसका उदाहरण है और eBiz पर भी कुछ ऐसे ही इंजाम लगे है, जो कहीं हद सही है।

कुल मिलाकर समझ लीजिये, कि MLM भारत में लीगल है और पिरमिड व पोंजी स्कीम नहीं।

सही MLM कंपनी कैसे चुने?

अब सवाल यह है, कि एक सही MLM कंपनी कैसे चुने और पिरामिड स्कीम जैसे फ्रॉड से कैसे बचे। तो इसके लिए निम्न बिन्दुओं को ध्यान में रखें।

Products/Services

MLM कंपनी के पास कैसे प्रॉडक्ट और सर्विस मौजूद है, इससे आप एक सही कंपनी का चुनाव कर सकते है।

अगर कंपनी के प्रॉडक्ट/सर्विस बहुत महंगे है और क्वालिटी सही नहीं है, तो ऐसी कंपनी से बिल्कुल दूर रहें। इससे आप पिरामिड स्कीम का भी पता लगा सकते है।

हमेशा MLM कंपनी के प्रॉडक्ट/सर्विस किफ़ायती होनी चाहिए। यानि जिस कीमत में, वे प्रॉडक्ट मार्केट में मिल रहे है और क्वालिटी में अच्छे है, तो वो कंपनी सही है।

इसके अलावा कंपनी के पास ज्यादा रेंज के प्रॉडक्ट होने चाहिए, जिससे आप और आपके उपभोक्ता के पास ज्यादा खरीददारी के विकल्प हो। प्रॉडक्ट पैकेज, ऑनलाइन वॉलेट, कोर्स, होलिडे पैकेज और अधिकतर ऑनलाइन सर्विस वाली MLM कंपनी फ्रॉड कर रही होती है।

Legal Company List

हर कुछ सालों में सरकार लीगल डायरेक्ट सेलिंग कंपनी लिस्ट जारी करती है, अगर कंपनी उस लिस्ट में है, तो वह कंपनी भरोसे करने लायक है और भारत सरकार के अंतर्गत काम कर रही है।

लेकिन यह गारंटी भी नहीं है, कि इस लिस्ट में मौजूद कंपनी कभी फ्रॉड ना करें। हाँ, पर यह कंपनिया अच्छे से रजिस्टर होती है।

बहुत सी ऑनलाइन सर्विस वाली कंपनिया इस लिस्ट में नहीं है, इसलिए उनपर भरोसा आसानी से ना करें।

Education/Training

MLM कंपनी अगर सही तरीके से ट्रेनिंग और MLM के बारे में सीखा रही है, तो उस कंपनी पर भरोषा कर सकते है। अधिकतर MLM कंपनिया मोटिवेशन सेमिनार और जूठे वादे करके लोगों को फसाती है। ऐसी कंपनियों से दूरी बनाए रखें।

Upline

आपकी Upline कौन है, इसपर आपकी MLM में सफलता बहुत निर्भर करती है। अगर आपकी Upline आपको MLM के बारे में सिखाती है और सही तरीके से खुदके अनुभव से गाइड करती है। तो आप उनके साथ उस कंपनी से जुड़ सकते है।

अक्सर Upline खुदका फायदा देखती है और समय आने पर धोखा करती है। इसलिए भरोसेमंद Upline चुनना बेहद जरूरी है।

Plan

कई लोग MLM कंपनी के Income Plan को प्राथमिकता देते है, लेकिन में निजी रूप से MLM कंपनी इनकम प्लान को इतनी मान्यता नहीं देता हूँ। अगर कंपनी के पास बेहतरीन प्रॉडक्ट है, तो कैसे भी प्लान पर वह सही काम करेंगी।

इसके बावजूद MLM कंपनी के प्लान का खुद विश्लेषण करें और समझे, कि

  • कंपनी ज्यादा बड़े रिटर्न का वादा तो नहीं कर रहीं
  • और लोगों को जोड़ने पर पैसा तो नहीं बाँट रही

अगर कंपनी के प्लान में ऐसा कुछ होता है, तो वो फ्रॉड हो सकती है।

MLM के फायदे

निम्नलिखित MLM के फायदे है।

  • काम करने के समय पर पूरी आजादी
  • असीमित कमाई का अवसर
  • डाउनलाइन/टीम द्वारा सम्मान
  • कम इन्वेस्टमेंट
  • MLM कोई भी कर सकता है
  • बहुत कुछ सीखने को मिलता है

MLM के नुकसान

हर चीज़ के दो पेहलू होते है, MLM में अक्सर लीडर सिर्फ फायदे बताते है, नकारात्मक बिन्दु कोई नहीं बताता है। फिर भी निम्न MLM करने के नुकसान है, जो खासकर शुरू में सबको देखने को मिलते है।

  • दोस्तों और परिवार से रिश्ते बिगड़ते है
  • कम्युनिकेशन और मार्केटिंग स्किल की जरूरत
  • MLM की सफलता दर मात्र 0.04%
  • फ्रॉड कंपनी और लीडर की मौजूदगी
  • महंगे प्रॉडक्ट और सर्विस
  • 3 साल का संघर्ष

MLM FAQ

1. किसी भी MLM कंपनी से कैसे जुड़े?

किसी भी MLM कंपनी से जुडने के लिए उस कंपनी के किसी मौजूदा डायरेक्ट सेलर से बात करें। वे आपकी ID कंपनी में लगा देंगे। पर ध्यान रहें, वे आपकी Upline बनेगी, इसलिए Upline चुनाव ध्यान से करें।

2. MLM से जुडने के लिए क्या चाहिए?

किसी भी MLM कंपनी से जुडने के लिए आपके पास आधार कार्ड और पेन-कार्ड होना चाहिए। अगर आप 18 के कम उम्र के है, तो अपने माता-पिता के नाम से भी MLM शुरू कर सकते है। पेमेंट लेने के लिए बैंक अकाउंट की भी जरूरत पड़ती है।

3. MLM में फ्रॉड से कैसे बचे?

बेशक MLM में आज भी फ्रॉड होते है। लेकिन इनसे बचना बेहद आसान है। हमेशा एक अच्छी MLM कंपनी और Upline का चुनाव करें। मोटिवेशन और पैकेज वाली कंपनी से दूर रहें। MLM में जॉब की तरह सैलरी नहीं मिलती है, इसलिए फिक्स सैलरी और जॉब की तरह MLM से हर महीने कमाई की उम्मीद शुरू में ना करें। इसके अलावा कंपनी डायरेक्ट सेलिंग गाइडलाइन का पालन करती हो और लीगल डायरेक्ट सेलिंग कंपनी लिस्ट में होनी चाहिए।

4. MLM में सफल होने में कितना समय लगता है?

MLM की सफलता दर 0.04% है, यानि 10,000 में से सिर्फ 1 व्यक्ति MLM में सफल होता होता है, जो IIT में प्रवेश लेने से भी मुश्किल है। इसके अतिरिक्त इसमें कम से कम 3 साल लगातार मेहनत बिना या कम कमाई पर करनी पड़ती है।

5. MLM से कितना पैसा कमा सकते है?

यह आपकी स्किल्स और अनुभव पर निर्भर करता है। आप MLM से लखपति बन सकते है, लेकिन शुरू के कुछ सालों तक आपको पैसो पर नहीं बल्कि नेटवर्किंग सीखने पर ध्यान देना होगा।

6. MLM में सफल कैसे हो?

इसके लिए पहले आपको खुदकी कम्युनिकेशन, प्रेजेंटेशन और मार्केटिंग स्किल को बेहतर करना होगा। उसके बाद अपना एक सही नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी में नेटवर्क बनाना शुरू करना होगा। आपको एक्टिव लोगों को अपनी डाउनलाइन में लाना होगा, जिससे आपके नेटवर्क का विकास जल्दी होगा और सफलता जल्दी मिल जाएगी।

7. कौनसी MLM कंपनी से बेस्ट है?

इसका जवाब मै एक कंपनी का नाम लेकर नहीं दे सकता। भारत में बहुत सी देशी और विदेशी MLM कंपनी मौजूद है। इसलिए आप पहले स्वयं इन कंपनी के बारे में जाने और अपनी जरूरत अनुसार सही MLM कंपनी चुने। हमारी इस वेबसाइट पर आपको सभी प्रशिद्ध MLM कंपनी के प्लान और प्रॉडक्ट के बारे में जानकारी मिल जाएंगी।

8. MLM में कितना पैसा लगाना होगा?

डायरेक्ट सेलिंग गाइडलाइन अनुसार, किसी भी MLM कंपनी से जुडने के लिए आपको कोई भी निवेश या फीस नहीं देनी होती है। लेकिन MLM कंपनी में अपना अकाउंट शुरू करने और डायरेक्ट सेलर बनने के लिए एक न्यूनतम राशि के प्रॉडक्ट खरीदने पड़ते है। यह राशि कंपनी पर निर्भर करती है, जो 1000 रुपये से लेकर 15,000 रुपये तक होती है, जिसके बदले आपको कंपनी के प्रॉडक्ट मिलते है।

शेयर करे : Share It

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सोशल मीडिया से जॉइनिंग करना सीखें
सोशल मीडिया से जॉइनिंग करना सीखें