MLM और डायरेक्ट सेलिंग क्या है? फायदे और नुक्सान

मार्केटिंग और नेटवर्किंग में अगर कोई व्यक्ति  माहिर है,तो वह यक्ति MLM जॉइन करके या अपना नेटवर्क बनाके एक साल में करोड़पति बन जायेग,तो यह बात पूरी तरह से गलत है। दूसरी ओर कोई यक्ति नेटवर्किंग के बारे में कुछ नहीं जानता और 1 साल में उसका कुछ नहीं होगा, तो यह सोचना भी गलत है।

यानी सिर्फ नेटवर्किंग और मार्केटिंग की अच्छी जानकारी से MLM और नेटवर्क बिल्डिंग में कामयाब नहीं हो सकते।क्योंकि इसके अलावा बाकी बहुत से कारन ,जिनपर आपकी MLM की कामयाबी टिकी है। अगर किसी के पास मार्केटिंग और दूसरे टैलेंट नही है,फिर भी वह MLM में कामयाब हो सकता है। इसलिए MLM को अच्छे से समझना बहुत जरूरी है और अगर असल जिंदगी में किसी का उदाहरण लेके समझा जाये,तो ओर भी बेहतर रहेगा।

 

यह पोस्ट MLM पर ही लिखी गयी है,जिसमे MLM क्या है,MLM और नेटवर्किंग के फायदे और नुकसान के बारे में संक्षेप में बतायंगे। शुरू करने से पहले आपको बता दे,कि हम किसी MLM कंपनी और प्लेन से नहीं जुड़े हुए है,इसलिए आप बेफ़िक्र होकर इस पोस्ट को ध्यान से पढ़े।हम किसी भी प्रकार का प्रमोशन इस पोस्ट में नहीं कर रहे है।तो,चलिये अब शुरू करते है।what is MLM in hindi


 

MLM (Multi Level Marketing)और नेटवर्किंग क्या है?

MLM के बारे में अगर आपने इंटरनेट पर सर्च किया होगा,तो आपको इसके बारे में साधरण जानकारी  होगी,फिर भी आपको बता दे,कि MLM की फुल फॉर्म “मल्टी लेवल मार्केटिंग” होता है।

 

यानी,आपको मार्केटिंग करनी पड़ती है। मार्केटिंग से मतलब की,आपको किसी कंपनी या सर्विस के बारे में लोगो को जानकारी पहुचना या किसी कंपनी को प्रमोट करना पड़ता है।  जैसे-जैसे आप मार्केटिंग में आगे बढ़ेंगे और ज्यादा से ज्यादा लोगो को इसके बारे में आप बताएंगे,आपको उसके पीछे अपना प्रॉफिट मिलेगा। प्रॉफिट में पैसे या फिर कुछ प्रोडक्ट या फिर कुछ मुफ्त सर्विस मिलती है। यह प्रॉफिट आपके प्लेन और जिस कारपोरेशन से आप जुड़े है,उसपर डिपेंड करता है।

\

मल्टी लेवल मार्केटिंग” में से मार्केटिंग का मतलब समझ आ गया होगा,पर “मल्टी लेवल” के बारे में शायद आपको नहीं पता होगा। जब आप मार्केटिंग शुरू करते है,तो कुछ कारपोरेशन में आप जैसे-जैसे आगे बढ़ते है,आपका लेवल बढ़ता है। आसान शब्दो मे कहे,तो आप नेटवर्क बना रहे होते है। आप जिस नेटवर्क में जुढ़े होते हे,उसके अलग अलग लेवल होते है. जिस व्यक्ति ने आपको उस MLM कम्पनी से जोड़ा हे,वो आपसे उपर के लेवल पर होता है.

यानी समय के साथ आप भी अपने नीचे नेटवर्क बनाते जायँगे और अलग-अलग लेवल आपके निचे बनते है,जिन्हें मल्टी-लेवल कहते है।इसलिए नेटवर्किंग को मल्टी-लेवल-मार्केटिंग कहाँ जाता है।


 

MLM और Networking के फायदे और नुकसान ?

MLM और networking से जुड़ने से पहले आपको इसके नुकसान और फायदे के बारे में पता होना चाहिए.क्युकी MLM से जुड़ना अपने कैरिएर को नये मोड़ से शुरू करना भी मान सकते हो.इसके अलावा लोग गलत कम्पनी और लोगो के साथ networking कर बैठते है. जिससे वे फिर MLM से मुह मोड़ लेते है.MLM के इसे तो बहुत से नुकसान और फायदे है,लेकिन कुछ अहम फायदे और नुकसान के बार में हम आपको बता रहे है.

MLM के फायदे-

  • काम करने के समय पर पूरी आजादी
  • असीमित कमाई का अवसर
  • अपार सम्मान
  • सुरक्षित जॉब
  • हर कोई जुड़ सकता है MLM में
  • किसी Qualification और डिग्री की जरूरत नहीं
  • कम इन्वेस्टमेंट

 

MLM और Networking के नुकसान-

  • Communication [बातचीत] स्किल्स की जरुरत
  • MLM से जुड़े कम्पनी का सिमित होना
  • शुरुवात में इनकम ना होना
  • शुरू में आत्मा-विश्वाश को खोना
  • अनावय्शक अस्विकारिता
  • फ्रोड कंपनियों का होना

Read More:


आपने इस पोस्ट में MLM और networking के बारे में पढ़ा है.इसके साथ हमने आपको MLM के नुकसान और फायदे संक्षिप्त में बताये है. हमे उम्मीद है,की आपको सब समझ आ गया होगा. अगर आपको कुछ भी सवाल है,तो हमसे कमेंट में जरुर पूछे. इसके बाद हम आपको अगली पोस्ट में   MLM के नुकसान और फायदे और क्यों MLM को सब SCAM कहते है ,इसके बारे में विस्तार से जानकारी देंगे.

Rate this post

5 thoughts on “MLM और डायरेक्ट सेलिंग क्या है? फायदे और नुक्सान”

    1. सबको का एक सामान ही होता है,कंपनी के प्रोडक्ट को बेचना और ओर लोगो को कंपनी प्लान से जोड़ना

कमेंट करे