MLM और डायरेक्ट सेलिंग का भारत में भविष्य क्या है?

आज की यह पोस्ट बेहद उपयोगी होने वाली है,जो लोग MLM और डायरेक्ट सेलिंग से जुड़े हुए या जुड़ने का सोच रहे है। यहाँ बात किसी एक MLM कंपनी की नही हो रही है,बल्कि पूरे MLM Industry के अस्तित्व पर यह लेख है। MLM और डायरेक्ट सेलिंग का भविष्य क्या है? (What is future of MLM and Direct Selling in hindi) क्या MLM और डायरेक्ट सेलिंग में निवेश करना सही है? (Did it good to invest in MLM and Direct Selling in Hindi?). MLM और डायरेक्ट सेलिंग क्यों करे? (why we should do MLM and Direct Selling in Hindi?)

इस तरह बहुत से सवाल आते है,जब किसी को MLM और डायरेक्ट सेलिंग को अपने करियर या पार्ट-टाइम जॉब के लिए जुड़ना पड़ता है। क्योंकि MLM और डायरेक्ट सैलिंग में सिर्फ पैसा नही बल्कि अमूल्य समय भी देना पड़ता है। वही 90% लोग 18 से 30 की उम्र के ही MLM से जुड़ते है,ऐसे में अपने गोल्डन पीरियड में सही जगह पर अपना समय लगाना बेहद जरूरी है।

इसलिए MLM से जुड़ना चाहिए या नही और MLM का भविष्य क्या है,यह सवाल उमड़ कर सामने आता है।

MLM और डायरेक्ट सैलिंग का भविष्य (Future of MLM and Direct Selling in Hindi)

MLM ka Future

MLM और डायरेक्ट सेलिंग कोई 5-6 से सालो से नही आयीं है,जिसका अचानक से अस्तित्व ना रहे।MLM इन्डस्ट्री को विकसित हुए कई दशक बीत गए है और आगे भी जाएंगे। पंरन्तु,आज के समय मे और जो बदलाव जीवनशैली, लोगो की सोच और टेक्नोलॉजी में आयी है,क्या उसके अनुसार MLM से जुड़ना चाहिए या नही।यह जानना जरूरी है। इसलिए इस लेख में हम दो भाग में बांट रहे है।जिसमे पहले में MLM और डायरेक्ट सेलिंग से क्यों जुड़ना चाहिए, इसके कारण बतायंगे।वही दूसरे भाग में MLM और डायरेक्ट सेलिंग से क्यों ना जुड़े यह भी बतायंगे। पंरन्तु,आप दोनों भागो को ध्यान से पढ़े और अपना निष्कर्ष निकाले.इससे निर्णय लेने में आसानी हो जाएगी और MLM व डायरेक्ट सेलिंग का भविष्य क्या होगा? पता चल जायेगा.तो चलिए  शुरू करते है।

 

MLM और डायरेक्ट सेलिंग से क्यों जुड़ना चाहिए:-

MLM और डायरेक्ट सेलिंग से जुड़ने के फ़ायदे जरूर है,जो शायद आपको कही ओर ना मिले।

Marketing:-

MLM और डायरेक्ट सेलिंग में खुद को ही लोगो के पास जाकर अपने प्लान और प्रोडक्ट का प्रमोशन करना होता है,जो एक तरह से मार्केटिंग ही है। शुरुवात में बेशक परेशानी होती है,पंरन्तु टीम-वर्क और लगन के साथ जल्दी से मार्केटिंग MLM से सीखने को मिल जाती है।जो आगे कोई भीे बिज़नेस करने के मामले में बेहद काम आती है।

Confidance:-

MLM में बहुत रिजेक्शन मिलते है।जिससे कई लोग तनाव में आ जाते है,पंरन्तु कुछ लोग इन रिजेक्शन से पीछे नही हटते और अपना काम करते जाते है। ऐसे लोगो का आत्मविश्वाश काफी ऊपर तक चले जाता है और ये जिंदगी में ओर किसी भी रिजेक्शन से पिछे नही हटते है।जो सफल जिवन के लिए जरुरी है.

\
Other:- 

MLM और डायरेक्ट सेलिंग को कोई भी,कही भी और कभी भी कर सकता है।MLM में पार्ट टाइम काम भी कर सकते है। वही MLM में काम की कोई बाधा नही होती यानी जितना ज्यादा काम करते है,उतना ज्यादा फायदा होता है। MLM में किसी भी क्वालिफिकेशन और डिग्री की जरूरत नही होती है,सिर्फ कम्युनिकेशन और मार्केटिंग स्किल काम आती है।

MLM और डायरेक्ट सेलिंग से क्यों ना जुड़े:-

MLM और डायरेक्ट सेलिंग से ना जुड़ने के कारण दिन-प्रतिदिन बड़ रहे है। जिसमे से कुछ बेहद जरूरी बिंदु नीचे लिखे हुए है।

Affilated Marketing Vs Network Marketing:

MLM और डायरेक्ट सेलिंग में जुड़े हुए मेंबर को अपने खुद के पैसे से कंपनी के प्रोडक्ट खरीदने होते है और उस कंपनी ने अपने पैसे भी निवेश करने होते है। इसके अलावा प्रोडक्ट को बेचने के लिए हर दिन नए-नए लोगो के पास जाना पड़ता है और कंपनी के प्लान का प्रमोशन करना होता है। जो आज के समय अनुसार पुराना कांसेप्ट हो गया है।

नेटवर्क मार्केटिंग की जगह अब अफलिटेड मार्केटिंग (Affilated Marketing) बेहतर विकल्प सामने आती है। अफलिटेड मार्केटिंग में प्रोडक्ट को खरीदना नही पड़ता है,बल्कि अपने सहारे लोगो को कंपनी के पास भेजना होता है।अगर किसी को प्रोडक्ट पसंद आये,तो वे डायरेक्ट कंपनी से प्रोडक्ट खरीद सकते है और हमे हमारा प्रॉफिट मिल जाएगा।

नेटवर्क मार्केटिंग में प्रोडक्ट को खरीदना जरूरी है,उसके बाद अगर प्रोडक्ट ना बिके तो नुक़सान भी हमारा ही होगा।वही अफलिटेड मार्केटिंग में निवेश करने की कोई जरूरत नही होती है और कंपनी के जितने चाहे उतने प्रोडक्ट का प्रमोशन कर सकते है,वो भी बिना उन्हें खरीदे। इसलिए आज के समय मे अफलिटेड मार्केटिंग नेटवर्क मार्केटिंग से काफी बेहतर विकल्प है।अमेज़न ,फ्लिपकार्ट जैसी कंपनी भी अफ्फिलटेड मार्केटिंग लोगो से करवाती है और इनकी इतनी सफलता में अफ्फिलटेड मार्केटिंग का भी योगदान रहा है।वही होस्टिंग और डोमेन कंपनी, ऑनलाइन शॉपिंग साइट, प्लेस्टोर पर बहुत से सॉफ्टवेयर है,जो बतौर अफ्फिलटेड मार्केटर उनसे जुड़ने का मौका देती है और अच्छा खासा कमिशन भी देती है।बस अपने पास अच्छी ऑडियंस होनी चाहिए।

डिजिटल मार्केटिंग Vs नेटवर्क मार्केटिंग:- 

नेटवर्क मार्केटिंग का शुरू होने का कारण यह भी था,कि किसी कंपनी के प्रोडक्ट और प्लान का ज्यादा से ज्यादा प्रमोशन हो और नेटवर्किंग कंपनी के बारे में सबको पता चले। हालांकि आज से कुछ दशकों पहले इंटरनेट और टेक्नोलॉजी नही थी।इसलिए नेटवर्क मार्केटिंग से बेहतर कोई मार्केटिंग व प्रमोशन विकल्प नही था। लेकिन अब यूट्यूब,फेसबुक,टेलीविज़न और इंटरनेट पर मार्केटिंग करना बेहद आसान और ज्यादा प्रभावी रहता है।इसे डिजिटल मार्केटिंग भी कहते है।

अब लोग अपने MLM प्लान का प्रोमशन इंटरनेट पर भी करते है,पंरन्तु ज्यादातर MLM कंपनी में डिजिटल और वर्चुअल प्रमोशन से स्वयं को फायदा नही होता है। वही फेसबुक MLM कंपनी और उनके प्लान के स्पॉन्सर विज्ञापन नही करता है।फेसबुक की गाइडलाइन्स के अनुसार कोई भी MLM प्लान का स्पांसर प्रमोशन (Paid) फेसबुक पर नही कर सकता है। facebook policy on MLM and Direct Selling

दूसरी ओर देखे,तो डिजिटल मार्केटिंग पर ज्यादा दबाव देने वाली कंपनियां अब MLM कंपनियों से कही गुणा आगे रहती है।इसलिए एक तरह डिजिटल मार्केटिंग के आगे नेटवर्क मार्केटिंग एक्सपायर कांसेप्ट लगता है। एक ओर बिंदु की डिजिटल मार्केटिंग में किसी के पास एक-एक करके जाने की जरूरत नही होती है,बल्कि एक क्लिक में लाखों की संख्या में लोगो के पास अपनी कंपनी का प्रमोशन हो जाता है।

पोंजी स्कीम और MLM :-

आजकल बहुत सी MLM कंपनी प्रोडक्ट के नाम पर पोंजी स्कीम चलाती है। जिसमे हाल ही में Future Maker पर प्रतिबंद लगा दिया गया है।जिससे लाखों लोगो का निवेश किया पैसा चला गया। यह पहली बार नही हुआ है,बल्कि आज भी MLM के नाम पर बहुत सी पोंजी स्कीम चल रही है। जो आज नही तो,कल बन्द हो ही जाएगी।वही आपकी जानकारी के लिए बता दे,कि पोंजी स्कीम पूरी तरह से फ़्रॉड होती है। इसलिए MLM के नाम पर पोंजी स्कीम में ना फंसे।

Others:- 

MLM में अब ज्यादातर लोग अपना फायदा देखते है।वे अधूरी जानकारी देकर लोगो को कंपनी और प्लान से जोड़ देते है और उनके पैसे से अपना मुनाफा निकालते है। इसके अतिरिक्त कही MLM कंपनीया तो अपना काला बाज़ार खोल कर बैठी है,जो जॉब और फिक्स सैलरी कहकर लोगो को बुलाती है और उन्हें बेवकूफ बनाकर इन्वेस्ट करवाती है। कई MLM कंपनी बेरोज़गार युवाओं और गरीबो को ही अपना शिकार बनाती है और मोटिवेशन की जगह उनका ब्रेन-वाश (Brain Wash) करती है। इसके अतिरिक्त उन लोगो को भी नही छोड़ते,जिन्हें MLM का M भी पता ना हो।

सभी MLM कंपनिया ऐसी नही है,पंरतु अब ज्यादातर MLM कंपनिया ऐसा ही आज के समय मे करती है।जो अचानक से गयाब या बन्द हो जाती है। अगर एक बार कोई MLM कंपनी बन्द हो जाती है,तो उससे जुड़े लोग वापस जीरो पर आ जाते है और उनका नेटवर्क कोई काम का नही रहता है।इसलिए MLM में करियर बनाना कोई आसान काम नही है।

निष्कर्ष:- 

हमे उम्मीद है,कि आपको MLM और डायरेक्ट सेलिंग में क्या भविष्य है? इस विषय पर बहुत कुछ जनाने को मिला होगा। इस लेख से ज्यादातर वे लोग जरूर मंजूर नही होगे, जो MLM में काफी समय से काम कर रहे है। पंरन्तु,यह लेख काफी रिसर्च और निजी अनुभव पर लिखा गया है।वही बहुत से लोगो को यह लेख एक तरफ़ा भी लगेगा,परन्तु इससे पहले भी बहुत से लेख इस साईट पर है.जिसमे MLM के बारे में बहुत कुछ जानने को मिल जायेगा.इसके अतरिक्त आपकी क्या राय MLM और डायरेक्ट सैलिंग पर है,हमारे साथ शेयर जरूर करे।

12 thoughts on “MLM और डायरेक्ट सेलिंग का भारत में भविष्य क्या है?”

  1. भारत में MLM व्यापार मे धीरे धीरे क्रांति आ रही है. आपकी पोस्ट में इसके बारे मे बहुत कुछ जानने को मिला. धन्यवाद

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *